अब दिल्ली की DTC बसों में महिलाओं के अलावा ये लोग भी कर पाएंगे फ्री में सफर

3 211
5/5 - (1 vote)

दिल्ली सरकार ने निर्माण कार्य से जुड़े मजदूरों को मुफ्त बस पास देने का निर्णय लिया है, जिससे लगभग 10 लाख मजदूरों को लाभ होने की उम्मीद है। राज्य के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने बुधवार को दिल्ली सचिवालय में आयोजित एक समारोह में कुछ निर्माण कार्य से जुड़े मजदूरों को पास वितरित किए।

उप मुखयमंत्री ने इस कार्यक्रम में कहा “दिल्ली में दस लाख मजदूरों को पंजीकृत किया गया है। पिछले एक साल में, केजरीवाल सरकार ने 10 लाख पंजीकृत मजदूरों (विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं के तहत) के बीच ₹ 600 करोड़ वितरित किए, जो पूरे देश में श्रमिकों के बीच वितरित की गई सबसे अधिक राशि है,”

कुछ लाभार्थियों के साथ बातचीत करते हुए, उन्होंने उनसे कहा कि वे अपने परिवारों के लिए बस पास मुफ्त किए जाने के कारण बचाए गए धन को खर्च करें।

कार्यक्रम के बाद, उन्हें समाचार एजेंसी ANI को कहा की: “सभी निर्माण मजदूरों को पहले यात्रा के लिए ₹ 1,000 से ₹ ​​3,000 प्रति माह के बीच खर्च करना पड़ता था। अब सरकार ने ऐसे मजदूरों के लिए बस यात्रा मुफ्त करने का फैसला किया है। इससे राज्य के करीब 10 लाख मजदूरों को फायदा होगा।”

निर्माण श्रमिकों में राजमिस्त्री, पेंटर, वेल्डर, बढ़ई, क्रेन ऑपरेटर आदि शामिल हैं।

पिछले महीने की शुरुआत में, दिल्ली सरकार ने वायु प्रदूषण के कारण निर्माण गतिविधियों पर प्रतिबंध से प्रभावित 23,256 श्रमिकों को 11.6 करोड़ रुपये जारी किया था।

सरकार के एक बयान के अनुसार, इस साल 23 मार्च तक बैंक संशोधन पूरा करने वाले प्रत्येक निर्माण मजदूरों को वर्तमान किस्त में 5,000 रुपये मिले हैं।

सरकार ने कहा कि पहले चरण में, सरकार ने नवंबर में प्रतिबंध की घोषणा के तुरंत बाद दिल्ली भवन और अन्य निर्माण श्रमिक कल्याण बोर्ड के साथ पंजीकृत 4.92 लाख श्रमिकों को 245 करोड़ रुपये की सहायता प्रदान की थी।

इसके बाद इस वर्ष होली पर 83,000 श्रमिकों को ₹41.9 करोड़ की राशि वितरित की गई।

ये भी पढ़े –  Sarkari Naukri : केंद्रे और राज्य में निकली बम्पर भरतिया, जल्दी करे आवेदन

Subscribe
Notify of
guest
3 Comments
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
Vivek

Sab kuch free mei dedo bs tum sab ko apahiz bna do

Himanshu

bss yhi reh gya hai ab

Dipanshu

Sab kuch krr doo free mai